एक वीपीएस को एक छोटा सर्वर के रूप में माना जा सकता है जो एक बड़े सर्वर पर रहता है - जैसे कि एक विशाल भूमि के विशाल क्षेत्र में बनाया गया विला। बड़े सर्वर के अंदर ऐसे कई छोटे छोटे वर्चुअल सर्वर होंगे। शारीरिक रूप से, केवल एक सर्वर है, लेकिन वस्तुतः सर्वर कई छोटे वीपीएस में विभाजित है, प्रत्येक एक अलग सर्वर के रूप में अभिनय करता है उपयोगकर्ता को एक ही सर्वर के मालिक होने का अनुभव मिलता है, और इसका पूरा नियंत्रण भी हो जाता है। इस प्रकार, वीपीएस को वास्तव में साझा वातावरण में एक समर्पित स्थान के रूप में कहा जा सकता है और साझा होस्टिंग और समर्पित होस्टिंग दोनों की सुविधाओं को जोड़ती है।
Trading spot currencies involves substantial risk and there is always the potential for loss. Your trading results may vary. Because the risk factor is high in the foreign exchange market trading, only genuine "risk" funds should be used in such trading. If you do not have the extra capital that you can afford to lose, you should not trade in the foreign exchange market. No "safe" trading system has ever been devised, and no one can guarantee profits or freedom from loss.
क्लाउड कंप्यूटिंग और वर्चुअलाइजेशन के बीच अंतर को समझाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि पूर्व एक सेवा है, जबकि बाद वाली एक तकनीक है। क्लाउड कंप्यूटिंग और वर्चुअलाइजेशन दो शब्द हैं जो अक्सर संगत लगते हैं। यद्यपि दोनों प्रौद्योगिकियां समान प्रतीत होती हैं, लेकिन वे समान नहीं हैं। उनका अंतर आपके व्यापारिक निर्णयों को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है।
Cloud या cloud कंप्यूटिंग एक ऐसी आधुनिक तकनीक है जिससे आप अपनी IT क्षमताओं का विकास अपनी इच्छा अनुसार या अपने business की जरूरतों के हिसाब से कर सकते हैं और उनको कहीं भी – दफ्तर, घर या छुट्टियों में गए किसी रमणीक स्थल पर इस्तेमाल कर सकते हैं क्योंकि क्लाउड किसी नेटवर्क जैसे इंटरनेट के द्वारा प्राप्य है | ये IT क्षमताओं को ‘as a service’ उपलब्द्ध कराता है, जैसे software applications, storage, network, interface, infrastructure आदि |
Cloud hosting वो method है जिसमे customers की requirements के base पर customized online virtual servers create, modify एवं remove किये जा सकते है | Cloud hosting को website host, emails store करने के लिए एवं web-based services को distributed करने के लिए use मे लेते है | Cloud servers actually मे Physical server पर hosted virtual machines है जिन पर CPU, memory, storage आदि resources allocated करने के बाद client की requirement के according OS और दूसरे software configure किया जाते है | जब आप अपनी website को cloud पर host करते है तो website अपनी requirement के लिए, servers cluster के virtual resources को use करती है | 
×