At VPS.net we offer two types of managed services solutions: Server Monitoring and Monitoring + Configuration. These services are ideal for customers who wish to maintain a hands-off approach. Would you like us to help you configure your server ? Let us know the requirements and we’ll take over for you. Our friendly and helpful in-house expertise is available 24/7/365.

क्लाउड होस्टिंग के साथ निपटने के मामले में, आप जो भी उपयोग करते हैं उसके लिए आप वास्तव में भुगतान करते हैं। यदि आपकी ज़रूरतें छोटी हैं, तो इसका मतलब है कि आप कम शुल्क का भुगतान करते हैं। जब आप अधिक स्थान का उपयोग करते हैं, तो आप थोड़ा अधिक भुगतान करते हैं। आपकी ज़रूरतें धीरे-धीरे बदलती रहें, आप हमेशा आपके पास की आवश्यकताओं में बदलाव कर सकते हैं। इसके अलावा, क्लाउड कंप्यूटिंग के नेटवर्क में आपके पास विभिन्न सर्वरों को रखकर डाउनटाइम के मुद्दे को बचाया जा सकता है यह आपके लिए गारंटी दे सकता है कि बिना किसी समय सामग्री अनुपलब्ध हो क्योंकि वेब होस्ट डाउनटाइम समस्या हो रही है। यह प्रभाव क्लाउड में उपलब्ध बैंडविड्थ का विस्तार करने के लिए कार्य करता है।क्लाउड पर सहेजे गए डेटा तक पहुंचने के लिए आप चुनाव के ओएस भी चुन सकते हैं। यह विकल्प मुख्यतः विंडोज और लिनक्स के लिए उपलब्ध है। सब कुछ, क्लाउड होस्टिंग की मेजबानी के लिए समर्पित होस्टिंग के आनंद के लिए अनुमति देता है लेकिन कम कीमत के लिए।
You can now host multiple applications on server at very cheap price. Server hosting services is now available in India as well. You can host your email services, games, & other applications on servers. Server hosting cost varies depending on usage & type of servers, You can use windows server, linux servers depending on your need. To reduce the cost, you can buy shared hosting or cloud hosting as well. The overall cost will come down. However you can even buy dedicated space for server hosting as well. You can get server hosting services at BigRock, GoDadday, Amazon, Hostgator, Bluehost & many other companies as well. You will also find free coupon codes to get discount on server hosting charges.
चाईबासा स्थित मुख्यालय से लेकर ग्रेजुएट कॉलेज के शाखा कार्यालय तक में कई बदलाव होंगे। इसके तहत केयू प्रशासन ने विद्यार्थियों को जारी होने वाले कागजात क्लाउड सर्वर पर रखने की प्रक्रिया शुरू कर दी है। प्रक्रिया पूरी होते ही विद्यार्थी कहीं से अपने सर्टिफिकेट आदि डाउनलोड कर सकेंगे। वीसी डॉ शुक्ला मोहंती ने बताया- अगले तीन माह में विद्यार्थियों को परीक्षाफल और नामांकन से जुड़े कागजात क्लाउड सर्वर के जरिए उपलब्ध कराए जाएंगे। इसी माह केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने सभी यूनिवर्सिटी को डिजिटलाइजेशन के लिए निर्देश दिया है। केयू में इसका अनुपालन शुरू हो चुका है। परीक्षाफल प्रकाशन के साथ टेबुलेशन वर्क के कंप्यूटराइजेशन के लिए भारत सरकार के उपक्रम के साथ तकनीकी परामर्श के लिए करार हो चुका है।
Now consider VPS hosting. You have your own space on a physical server that is partitioned into multiple private environments. The technical term for this is “virtualization.” So while others may reside on the same physical server as you, your space is yours alone and you don’t share resources and bandwidth like you do with shared hosting. Like dedicated hosting, VPS hosting allows a high degree of control and customization. You can change server settings, install software, add users, and even turn the server on and off as needed. One way to visualize VPS hosting is to think about living in a condominium building. A single building is divided into multiple private units of various sizes. Each unit has a private laundry room and storage area, and a reserved parking space – resources that do not have to be shared with other condo residents – and you can control and customize your living space as needed.
A virtual private server (VPS) is created through the process of virtualization, by which a virtual replica of a physical server is created. A VPS is like having access to your own personal server with an allocated number of resources and choice of a pre-installed operating system. It is an isolated microsystem based on a shared server. Since a VPS is self contained, you have full control of your server setup and are responsible for all updates and security. You can also choose to opt for our managed service.
Cloud term उन servers (group of servers in single cluster) के लिए refer की जाती है जो की public or private use के लिए internet पर available होते है | ये internet से connected servers clients को अलग अलग charges पर (कुछ services free भी होती है) software or storage services provide करते है | Cloud based service कई तरह की हो सकती है जैसे की वेब एंड फाइल होस्टिंग, फाइल शेयरिंग या फिर सॉफ्टवेयर distribution आदि |
×