इस  होस्टिंग मे आपको एक पूरा सर्वर आपका होता  जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है उदाहरण के लिए जैसे की आपने एक नया घर ख़रीदा है जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है यानि की पूरी की पूरी बिल्डिंग आपका है इसमे जो भी घर के सामान वगेरा होंगे वो सर्फ आपके होंगे किसी और के नहीं, उसी तराह इस  होस्टिंग मे आपका  एक अपना अलग  सर्वर होता है जिसमे सिर्फ आपके वेबसाइट के फाइल्स ,फोटोज,और विडियो होंगे
क्लाउड पर सारा डेटा : इंजीनियरिंग स्टूडेंट गरिमा पुरोहित ने बताया कि एटीएम थेफ्ट रोकने के लिए किनेक्ट गार्ड बनाया है। डेमो के तौर पर इसको कॉलेज में इंस्टॉल किया था। शुरुआत में यह गार्ड फोटो खींचकर हमें डेटा दे रहा था। फोटो और डेटा को एक साथ रखने के लिए हमारे पास स्पेस नहीं थी, इसलिए हमने माइक्रोसॉफ्ट की फ्री क्लाउड सर्विस रेंट पर ली थी। इसके बाद हमने पे एज यू यूज सर्विस ली। अब जितना यूज करेंेगे उतना पे करना पड़ेगा।
I was running a small private weather website in AWS and the satellite images got "picked up" by a news website and they regularly use them during major weather evenings. AWS' 12c per GB of outbound network traffic made things expensive and VPSServer makes this a lot more manageable and has excellent data volumes included with the price of the VPS. I also get many more CPUs for the price compared to AWS, so I am a happy customer.
दोस्तो आज हम जानेंगे की वेब होस्टिंग क्या है (What is Web Hosting in Hindi) Internet की दुनिया बहुत बड़ी है जहा पर करोड़ो की संख्या में वेबसाइट है, और वेबसाइट के लिए Web Hosting का होना बहुत जरुरी है. आप सोच रहे होंगे कैसे? क्यूंकि Domain और Web Hosting साथ में मिलकर एक पूरी वेबसाइट बनाते है. बहुत से ऐसे नए Blogger है जो जिन्होंने अभी-अभी अपना वेबसाइट शुरू किया है और वो जल्दबाजी में wrong hosting खरीद लेते है बिना जाने की कौन सी होस्टिंग उसके लिए अच्छी है और कौन सी ख़राब? उन्हे पता ही नहीं है web hosting kya hai, Domain Name क्या है  से लेकर Web Hosting तक सारी चीजों की जानकारी आपको पता होनी चाइए. क्यूंकि ये आपके वेबसाइट के लिए बहुत महवत्पूर्ण है.
Cloud hosting की help से website का peak load (without any bandwidth issue) conveniently manage किया जा सकता है क्योकि इस case मे cluster का other server additional resources उस server को offer कर सकता है | इस प्रकार website को किसी एक single server के resources पर depend नहीं रहना पड़ता क्योकि बहुत सारे server, cluster मे काम करते हुए अपने resources share करते है | 
×