क्लाउड कंप्यूटिंग में नियोजित मूल सिद्धांत का उपयोग वर्चुअल वातावरण का है जहां डेटा संग्रहण आम तौर पर उपयोग किए जाने वाले दूरस्थ सर्वर प्रौद्योगिकी से एक नई तकनीक तक फैल जाती है जहां डेटा संग्रहीत किया जा सकता है एक 'बादल', जो आसानी से सुलभ और मालिक या अधिकृत कर्मियों द्वारा पृथ्वी पर किसी भी बिंदु से पहुंच के लिए सुरक्षित बनाता है, बशर्ते इंटरनेट कनेक्शन उपलब्ध है। क्लाउड कंप्यूटिंग में डेटा का वर्चुअलाइजेशन आवश्यकताओं और मांग के आधार पर आसान स्केलिबिलिटी की अनुमति देता है। क्लाउड कंप्यूटिंग के उपयोग को व्यापक रूप से नियोजित किया गया है जब विभिन्न मेजबानों में होस्ट किए जाने वाले अनुप्रयोग चला रहे हों या जो आभासी मेजबान या सेवाओं के लिए प्रदान की गई कई सेवाओं का उपयोग करते हैं।
एक सामान्य वेबसाइट केवल एक बुनियादी साझा काम करने के लिए होस्टिंग की आवश्यकता है। हालांकि कई परिदृश्यों जहां एक साझा मेजबानी केवल आपके लिए काम नहीं करता है। सबसे महत्वपूर्ण कारणों में से एक संसाधनों के उपयोग के रूप में आते हैं। अपनी वेबसाइट स्क्रिप्ट या plugins कभी कभी सीमा से परे संसाधनों का उपयोग कर सकते हैं, या अपनी वेबसाइट में मौजूद कुछ अन्य वेबसाइटों की वजह से धीमी हो सकती है? एक ही सर्वर, या अपनी वेबसाइट भारी यातायात जो एक साझा सर्वर द्वारा नियंत्रित नहीं किया जा सकता हो जाता है। तो अगले कदम के किसी को भी देखना होगा कि, और क्या प्रदाताओं की मेजबानी की सिफारिश करेंगे एक आभासी निजी सर्वर (VPS) है।
माना जाता है कि, ईजीआई को बेचे जाने के बाद से होस्टगेटर की गुणवत्ता कभी कम हो गई है। लेकिन हमें लगता है कि उनकी नई योजना - होस्टगेटर क्लाउड होस्टिंग इसे बदलने के लिए यहां है। नई क्लाउड प्लान (हमने 2017 में स्विच किया है) विश्वसनीय, उचित मूल्य और सेटअप के लिए अपेक्षाकृत सरल है। हम होस्टगेटर क्लाउड होस्टिंग की सलाह देते हैं और सोचते हैं कि वे ब्लॉगर्स के लिए विशेष अधिकार हैं जो एक साधारण होस्ट चाहते हैं।
एक महीने में सीखी नेटवर्किंग : मैनेजमेंट स्टूडेंट विपुल मेहरोत्रा ने बताया कि उन्हें नेटवर्किंग सीखनी थी। इस लिए उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड लिया। इसके बाद वर्चुअल वर्ल्ड में मशीन सेट-अप की। वर्चुअली लैपटॉप सेट करने के साथ ही खुद को क्लाइंट के तौर पर ट्रीट किया। इस तरह विपुल ने एक महीने में नेटवर्किंग सीखी। इसी तरह मैनिट के स्टूडेंट स्वप्निल कुमार ने अमेजॉन क्लाउड रेंट पर लिया है। स्वप्निल ने बताया कि वे आईटी सिनारियो पर रिसर्च कर रहे हैं। उन्हें लगातार टेक्नोलॉजिकल अपडेट्स और इंफॉर्मेशन कलेक्ट करनी होती है। स्वप्निल ने बताया कि इसमें स्पेस की भी कोई दिक्कत नहीं होती। साथ ही वायरस से डेटा करप्ट होने का खतरा भी नहीं होता।

एक आभासी निजी सर्वर (VPS, भी वर्चुअल समर्पित सर्वर या VDS के रूप में भेजा) बंटवारे एक सर्वर की एक विधि है । यह एक लागत प्रभावी, सुरक्षित मंच एकाधिक आभासी मशीन में एक शारीरिक मशीन विभाजित द्वारा संभव बनाया है । प्रत्येक वर्चुअल सर्वर अपने स्वयं के पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम चला सकते हैं, और प्रत्येक सर्वर स्वतंत्र रूप से रीबूट किया जा सकता है । VPS अंय ग्राहकों द्वारा साझा की गई मशीन पर समर्पित सर्वर की सुविधाएं प्रदान करता है । ग्राहकों को इसलिए होस्टिंग सेवाओं है कि गोपनीयता या प्रदर्शन त्याग के बिना समर्पित होस्टिंग के समान है मिलता है ।
क्लाउड कंप्यूटिंग के साथ बिग डाटा और डाटा एनालिटिक्स में भी करियर बना सकते हैं। बिग डाटा में कंपनियों के डाटा को सुरक्षित रखने के साथ ही उनका एनालिसिस किया जाता है। फ्यूचर में बिजनेस फोरकास्टिंग के लिए भी बिग डाटा और डाटा एनालिटिक्स की जरूरत पड़ेगी। एक अनुमान के मुताबिक क्लाउड कंप्यूटिंग का कारोबार 2015 तक 70 अरब डॉलर से ज्यादा का हो सकता है। क्लाउड कंप्यूटिंग के क्षेत्र में आप क्लाउड आर्किटेक्ट, क्लाउड सर्विस डेवलपर, क्लाउड कंसल्टेंट, क्लाउड सिस्टम एडमिनिस्ट्रेटर, क्लाउड प्रोडक्ट मैनेजर आदि के तौर पर करियर बना सकते हैं।
क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक नया आयाम है। इस नए आयाम से करियर के भी कई रास्ते खुलने लगे हैं। साथ ही, यह लोगों का इंटरनेट संबंधी डाटा मैनेज करने में भी मददगार है। अब कंप्यूटर और इंटरनेट से जुड़ी हर सर्विस की पूलिंग सीधे क्लाउड्स से जुड़े हुए सर्वर के जरिए हो सकेगी। क्लाउड कंप्यूटिंग यूजर्स के लिए किसी हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर की जरूरत नहीं होगी। एक अनुमान के मुताबिक, वर्ष 2015 तक भारत में क्लाउड कंप्यूटिंग में एक लाख लोगों को नौकरियां मिल सकती हैं।
Cloud hosting की help से website का peak load (without any bandwidth issue) conveniently manage किया जा सकता है क्योकि इस case मे cluster का other server additional resources उस server को offer कर सकता है | इस प्रकार website को किसी एक single server के resources पर depend नहीं रहना पड़ता क्योकि बहुत सारे server, cluster मे काम करते हुए अपने resources share करते है | 
×