वर्चुअल प्राइवेट सर्वर को भी हम एक उदाहरण द्वारा ही समझते है मान लीजिये एक बड़ी सी बिल्डिंग है उसमे छोटे छोटे कमरे बना दिए गए है और उन्हें किराये पर उठा दिया जाता है जो व्यक्ति उस कमरे को किराये पर लेता है उसका उस पर उसका पूर्ण अधिकार होता है और कोई भी उसमे नहीं रह सकता है ठीक उसी प्रकार वर्चुअल प्राइवेट सर्वर काम करता है इसमें एक सर्वर को अलग अलग भागो में बाट दिया जाता है जिस भाग में जो वेबसाइट रहती है उसमे उसका पूर्ण अधिकार होता है और कोई वेबसाइट उसमे नहीं रहती है एक तरह से ये उसका प्राइवेट सर्वर होता है 
इंटरनेट मे जब हम ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हमारे पास दो चीज़े होनी चाहिए  सबसे पहला है पहला डोमेन और दुसरा वेब होस्टिंग(Web Hosting) इन दोनों के बिना आप  इंटरनेट मे वेबसाइट या ब्लॉग नहीं बनाना सकते डोमेन क्या है इसके बारे मे तो आप जानते ही होगे अगर आप नहीं जानते तो आप इस पोस्ट को जरुर पढ़े ये आपके लिये बहोत जरुरी है डोमेन क्या है डोमेन कहा से खरीदना चाहिए क्यों की एक सही डोमेन प्रोवाइडर को चुन्ना भी बहोत जरुरी है जितना की एक सही वेब होस्टिंग चुनना.
Last के कुछ सालो मे web hosting मे बहुत से changes देखने को मिल रहे है और इन नए changes मे cloud web hosting, web hosting की तेजी से उभरती हुई service and trend है जो की worldwide different business use करते है | Cloud hosting के grow होने का reason traditional web hosting (shared hosting, VPS and dedicated) के different issues है जैसे की performance, cost etc | 
×