वर्चुअलाइजेशन, कम्प्यूटरीकृत ढांचे को भौतिक वातावरण से अलग करता है। वर्चुअलाइजेशन आपको एक ही सिस्टम पर विभिन्न ऑपरेटिंग सिस्टम और एप्लिकेशन चलाने में मदद करता है। वर्चुअलाइजेशन वह तकनीक है जो आपको एकल, भौतिक हार्डवेयर सिस्टम से कई नकली वातावरण या समर्पित संसाधन बनाने की अनुमति देती है। वर्चुअलाइजेशन के माध्यम से, हम सर्वर समेकन की योजना बनाते हैं जिसके द्वारा हम विभिन्न कार्यक्षमता के साथ कई सर्वर बनाए रखते हैं। सर्वर वर्चुअलाइजेशन आपको कई प्रयोजनों के लिए एक ही सर्वर के भार को संतुलित करने के लिए संसाधनों को विभाजित करने की अनुमति देता है। वर्चुअलाइजेशन सॉफ्टवेयर आपको एक भौतिक सर्वर के संसाधनों को कई अलग-अलग आभासी वातावरण बनाने के लिए विभाजित करता है।
क्रेडिट कार्ड है जरूरी : रेंट पर क्लाउड सर्वर लेने के लिए क्रेडिट कार्ड जरूरी है। पहले कुछ कंपनियां ट्रायल के तौर पर सर्वर यूज करने के लिए देती है। इसमें माइक्रोसॉफ्ट 30 दिन का फ्री ट्रायल भी देता है। इसके साथ ही अमेजॉन के साथ कई आईटी कंपनियां क्लाउड सर्वर उपलब्ध करा रही हैं। इसमें स्पेस की कोई प्रॉब्लम नहीं होती साथ ही सिक्योरिटी का डर नहीं होता।
अलग सर्वर लगाने में कम से 22 लाख का खर्च था, इसलिए एनआईसी दिल्ली से वार्ता की। शुरू में उन्हें बताया गया कि यूपी में किसी विवि को एनआईसी ने अब तक अपना सर्वर नहीं दिया है मगर अंतत: बात बन गई और एनआईसी सर्वर उपलब्ध कराने को राजी हो गया। कुलपति प्रो. वीके सिंह ने बताया कि एनआईसी दिल्ली ने सर्वर पर जगह दे दी है। इसके बदले कुछ किराया देना पड़ेगा। मार्च से संयुक्त प्रवेश परीक्षा का काम इसी सर्वर पर किया जाएगा।
Cloud computing is highly scalable to benefit any business or service model. With cloud computing's massively scalable layers such as Software as a Service (SaaS), Platform as a Service (PaaS), and Infrastructure as a Service (IaaS), an organization can easily manage a gamut of enterprise-level services from a remote location. Thus it is highly cost-effective in the sense you don't have to purchase expensive multiple servers to manage your office work. A single, integrated cloud server or virtual server can be stretched and scaled up or down to manage large volumes of work daily.
इंटरनेट मे जब हम ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हमारे पास दो चीज़े होनी चाहिए  सबसे पहला है पहला डोमेन और दुसरा वेब होस्टिंग(Web Hosting) इन दोनों के बिना आप  इंटरनेट मे वेबसाइट या ब्लॉग नहीं बनाना सकते डोमेन क्या है इसके बारे मे तो आप जानते ही होगे अगर आप नहीं जानते तो आप इस पोस्ट को जरुर पढ़े ये आपके लिये बहोत जरुरी है डोमेन क्या है डोमेन कहा से खरीदना चाहिए क्यों की एक सही डोमेन प्रोवाइडर को चुन्ना भी बहोत जरुरी है जितना की एक सही वेब होस्टिंग चुनना.
(function(){"use strict";function u(e){return"function"==typeof e||"object"==typeof e&&null!==e}function s(e){return"function"==typeof e}function a(e){X=e}function l(e){G=e}function c(){return function(){r.nextTick(p)}}function f(){var e=0,n=new ne(p),t=document.createTextNode("");return n.observe(t,{characterData:!0}),function(){t.data=e=++e%2}}function d(){var e=new MessageChannel;return e.port1.onmessage=p,function(){e.port2.postMessage(0)}}function h(){return function(){setTimeout(p,1)}}function p(){for(var e=0;et.length)&&(n=t.length),n-=e.length;var r=t.indexOf(e,n);return-1!==r&&r===n}),String.prototype.startsWith||(String.prototype.startsWith=function(e,n){return n=n||0,this.substr(n,e.length)===e}),String.prototype.trim||(String.prototype.trim=function(){return this.replace(/^[\s\uFEFF\xA0]+|[\s\uFEFF\xA0]+$/g,"")}),String.prototype.includes||(String.prototype.includes=function(e,n){"use strict";return"number"!=typeof n&&(n=0),!(n+e.length>this.length)&&-1!==this.indexOf(e,n)})},"./shared/require-global.js":function(e,n,t){e.exports=t("./shared/require-shim.js")},"./shared/require-shim.js":function(e,n,t){var r=t("./shared/errors.js"),i=(this.window,!1),o=null,u=null,s=new Promise(function(e,n){o=e,u=n}),a=function(e){if(!a.hasModule(e)){var n=new Error('Cannot find module "'+e+'"');throw n.code="MODULE_NOT_FOUND",n}return t("./"+e+".js")};a.loadChunk=function(e){return s.then(function(){return"main"==e?t.e("main").then(function(e){t("./main.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"dev"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("dev")]).then(function(e){t("./shared/dev.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"internal"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("internal"),t.e("qtext2"),t.e("dev")]).then(function(e){t("./internal.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"ads_manager"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("ads_manager")]).then(function(e){undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"publisher_dashboard"==e?t.e("publisher_dashboard").then(function(e){undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined,undefined}.bind(null,t))["catch"](t.oe):"content_widgets"==e?Promise.all([t.e("main"),t.e("content_widgets")]).then(function(e){t("./content_widgets.iframe.js")}.bind(null,t))["catch"](t.oe):void 0})},a.whenReady=function(e,n){Promise.all(window.webpackChunks.map(function(e){return a.loadChunk(e)})).then(function(){n()})},a.installPageProperties=function(e,n){window.Q.settings=e,window.Q.gating=n,i=!0,o()},a.assertPagePropertiesInstalled=function(){i||(u(),r.logJsError("installPageProperties","The install page properties promise was rejected in require-shim."))},a.prefetchAll=function(){t("./settings.js");Promise.all([t.e("main"),t.e("qtext2")]).then(function(){}.bind(null,t))["catch"](t.oe)},a.hasModule=function(e){return!!window.NODE_JS||t.m.hasOwnProperty("./"+e+".js")},a.execAll=function(){var e=Object.keys(t.m);try{for(var n=0;n=c?n():document.fonts.load(l(o,'"'+o.family+'"'),s).then(function(n){1<=n.length?e():setTimeout(t,25)},function(){n()})}t()});var w=new Promise(function(e,n){a=setTimeout(n,c)});Promise.race([w,m]).then(function(){clearTimeout(a),e(o)},function(){n(o)})}else t(function(){function t(){var n;(n=-1!=y&&-1!=g||-1!=y&&-1!=v||-1!=g&&-1!=v)&&((n=y!=g&&y!=v&&g!=v)||(null===f&&(n=/AppleWebKit\/([0-9]+)(?:\.([0-9]+))/.exec(window.navigator.userAgent),f=!!n&&(536>parseInt(n[1],10)||536===parseInt(n[1],10)&&11>=parseInt(n[2],10))),n=f&&(y==b&&g==b&&v==b||y==x&&g==x&&v==x||y==j&&g==j&&v==j)),n=!n),n&&(null!==_.parentNode&&_.parentNode.removeChild(_),clearTimeout(a),e(o))}function d(){if((new Date).getTime()-h>=c)null!==_.parentNode&&_.parentNode.removeChild(_),n(o);else{var e=document.hidden;!0!==e&&void 0!==e||(y=p.a.offsetWidth,g=m.a.offsetWidth,v=w.a.offsetWidth,t()),a=setTimeout(d,50)}}var p=new r(s),m=new r(s),w=new r(s),y=-1,g=-1,v=-1,b=-1,x=-1,j=-1,_=document.createElement("div");_.dir="ltr",i(p,l(o,"sans-serif")),i(m,l(o,"serif")),i(w,l(o,"monospace")),_.appendChild(p.a),_.appendChild(m.a),_.appendChild(w.a),document.body.appendChild(_),b=p.a.offsetWidth,x=m.a.offsetWidth,j=w.a.offsetWidth,d(),u(p,function(e){y=e,t()}),i(p,l(o,'"'+o.family+'",sans-serif')),u(m,function(e){g=e,t()}),i(m,l(o,'"'+o.family+'",serif')),u(w,function(e){v=e,t()}),i(w,l(o,'"'+o.family+'",monospace'))})})},void 0!==e?e.exports=s:(window.FontFaceObserver=s,window.FontFaceObserver.prototype.load=s.prototype.load)}()},"./third_party/tracekit.js":function(e,n){/**

आइये इसे एक उदाहरण से समझते है जिस तराह आपको धरती मे रहते के लिए के जगह या प्लोट की जरुरत होती है उसी तराह इंटरनेट मे आपके ब्लॉग को भी एक जगह की जरुरत होती है जिसे हम वेब होस्टिंग कहते है इसी के अन्दर हमारे सारे पोस्ट ,फोटोज ,फाइल्स विडियो इत्यादि सेव रहता है और ये 24 घटे एक्टिव रहता है जिससे की हमारा ब्लॉग हमेशा ऑनलाइन रहे अब ये जगह जो हमें प्रदान करते है उन्हे हम वेब होस्टिंग कंपनी कहते है


दोस्तों अगर आप नया website बनाने का सोच रहे और तो आपको web hosting की जरुरत होगी, Hosting खरीदते समय आपको धायण देना है क्यूंकि आवेश में आकर अगर गलत Hosting ले लेंगे तो वो आपके website को Hurt करेगी. बहुत से ऐसे कम्पनी है जो कम से कम दामों पर और अलग अलग तरह के Hosting देती है, तो अगर आप web hosting kya hai, जानते है और Hosting लेने का सोच रहे है तो आप आपके लिए ये Hosting Providers कंपनी की List है.
एक भुगतान गेटवे ई-कॉमर्स अनुप्रयोग सेवा प्रदाता सेवा है, जो ई-व्यवसायों, ऑनलाइन रिटेलरों, ईंटों और क्लिक या पारंपरिक ईंट और मोर्टार के लिए भुगतान को प्राधिकृत करता है । यह बिक्री टर्मिनल के एक भौतिक बिंदु के समकक्ष ज्यादातर खुदरा दुकानों में स्थित है । भुगतान गेटवे क्रेडिट कार्ड के विवरण को सुरक्षित रखता है, जैसे कि क्रेडिट कार्ड नंबर, यह सुनिश्चित करने के लिए कि जानकारी ग्राहक और व्यापारी के बीच सुरक्षित रूप से पास हो और मर्चेंट और भुगतान प्रोसेसर के बीच भी ।
होस्टिंग उद्योग में नवीनतम प्रवृत्ति बादल होस्टिंग कहा जाता है। नाम, मन में सवाल और भ्रम का एक बहुत पैदा होती है जब एक आम आदमी से सुना। यह लोगों को आश्चर्य है कि कैसे किसी को अपने फाइलों को रखने के लिए और उन्हें आकाश या बादलों में बचाया जा सकता है बनाता है। हालांकि, सच्चाई यह है कि नाम मौसम विज्ञान या आकाश या मौसम या तूफान के साथ करने के लिए कुछ भी नहीं है। तो, क्या वास्तव में होस्टिंग बादल है? डेटा कहां जमा हो जाती है? कैसे यह है कि नाम कैसे मिला? हम इस पोस्ट में विस्तार से इस बारे में आ रहे हैं।
×