क्लाउड कम्प्यूटिंग तकनीक में वर्चुअलाइजेशन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वर्चुअलाइजेशन हार्डवेयर-सॉफ्टवेयर संबंधों को बदलता है। वर्चुअलाइजेशन क्लाउड कम्प्यूटिंग के मूलभूत तत्वों में से एक है। क्लाउड कंप्यूटिंग और वर्चुअलाइजेशन अलग-अलग प्रसाद प्रदान करने के लिए एक साथ काम करते हैं। वर्चुअलाइजेशन क्लाउड कंप्यूटिंग तकनीक को क्लाउड कंप्यूटिंग की पूर्ण क्षमताओं का उपयोग करने में मदद करता है। क्लाउड उनकी सेवाओं के एक हिस्से के रूप में वर्चुअलाइजेशन उत्पाद प्रदान करता है। अंतर यह है कि एक सच्चा क्लाउड स्वयं-सेवा सुविधा, लोच, स्वचालित प्रबंधन, मापनीयता और भुगतान-जैसा-आप-सेवा प्रदान करता है जो कि प्रौद्योगिकी के लिए अंतर्निहित नहीं है। वर्चुअलाइजेशन एक क्लाउड का उत्पाद है। नहीं, क्लाउड कम्प्यूटिंग वर्चुअलाइजेशन की जगह लेने वाला नहीं है।


यह आप चुनते हैं होस्टिंग के प्रकार की परवाह किए बिना, एक CDN स्थापित करने के लिए एक अच्छा विचार है। एक CDN, या सामग्री वितरण नेटवर्क, बैंडविड्थ और अपने वेब सर्वर पर अनुरोधों की संख्या को कम करके संसाधनों को बचाने में मदद करता है। यही कारण है कि मदद से आप अपने होस्टिंग योजना पर पैसे बचाने के लिए है, और दुर्भावनापूर्ण आगंतुकों से खतरों को कम कर सकते हैं।
एक आभासी निजी सर्वर (VPS, भी वर्चुअल समर्पित सर्वर या VDS के रूप में भेजा) बंटवारे एक सर्वर की एक विधि है । यह एक लागत प्रभावी, सुरक्षित मंच एकाधिक आभासी मशीन में एक शारीरिक मशीन विभाजित द्वारा संभव बनाया है । प्रत्येक वर्चुअल सर्वर अपने स्वयं के पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम चला सकते हैं, और प्रत्येक सर्वर स्वतंत्र रूप से रीबूट किया जा सकता है । VPS अंय ग्राहकों द्वारा साझा की गई मशीन पर समर्पित सर्वर की सुविधाएं प्रदान करता है । ग्राहकों को इसलिए होस्टिंग सेवाओं है कि गोपनीयता या प्रदर्शन त्याग के बिना समर्पित होस्टिंग के समान है मिलता है ।
वेब होस्टिंग क्या है इसके बारे मे तो आपने जन लिया है अब ये web hosting कितने प्रकार की होती इससे जाना भी जरुरी है वैसे तो वेब होस्टिंग के बहोत से प्रकार होते है उदाहरण के लिए : शेयर्ड होस्टिंग (shared hosting), VPS वर्चुअल प्राइवेटसर्वर( Virtual Private Server),डेडिकेटेड होस्टिंग(Dedicated Hosting) और क्लाउड होस्टिंग(Cloud hosting) आइये इनके बारे मे एक एक कर के जान लेते है

Cloud term उन servers (group of servers in single cluster) के लिए refer की जाती है जो की public or private use के लिए internet पर available होते है | ये internet से connected servers clients को अलग अलग charges पर (कुछ services free भी होती है) software or storage services provide करते है | Cloud based service कई तरह की हो सकती है जैसे की वेब एंड फाइल होस्टिंग, फाइल शेयरिंग या फिर सॉफ्टवेयर distribution आदि |

×