क्लाउड कंप्यूटिंग और वर्चुअलाइजेशन के बीच अंतर को समझाने का सबसे अच्छा तरीका यह है कि पूर्व एक सेवा है, जबकि बाद वाली एक तकनीक है। क्लाउड कंप्यूटिंग और वर्चुअलाइजेशन दो शब्द हैं जो अक्सर संगत लगते हैं। यद्यपि दोनों प्रौद्योगिकियां समान प्रतीत होती हैं, लेकिन वे समान नहीं हैं। उनका अंतर आपके व्यापारिक निर्णयों को महत्वपूर्ण रूप से प्रभावित कर सकता है।
इस  होस्टिंग मे आपको एक पूरा सर्वर आपका होता  जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है उदाहरण के लिए जैसे की आपने एक नया घर ख़रीदा है जिसमे सिर्फ आपका हक़ होता है यानि की पूरी की पूरी बिल्डिंग आपका है इसमे जो भी घर के सामान वगेरा होंगे वो सर्फ आपके होंगे किसी और के नहीं, उसी तराह इस  होस्टिंग मे आपका  एक अपना अलग  सर्वर होता है जिसमे सिर्फ आपके वेबसाइट के फाइल्स ,फोटोज,और विडियो होंगे
I was running a small private weather website in AWS and the satellite images got "picked up" by a news website and they regularly use them during major weather evenings. AWS' 12c per GB of outbound network traffic made things expensive and VPSServer makes this a lot more manageable and has excellent data volumes included with the price of the VPS. I also get many more CPUs for the price compared to AWS, so I am a happy customer.

क्रेडिट कार्ड है जरूरी : रेंट पर क्लाउड सर्वर लेने के लिए क्रेडिट कार्ड जरूरी है। पहले कुछ कंपनियां ट्रायल के तौर पर सर्वर यूज करने के लिए देती है। इसमें माइक्रोसॉफ्ट 30 दिन का फ्री ट्रायल भी देता है। इसके साथ ही अमेजॉन के साथ कई आईटी कंपनियां क्लाउड सर्वर उपलब्ध करा रही हैं। इसमें स्पेस की कोई प्रॉब्लम नहीं होती साथ ही सिक्योरिटी का डर नहीं होता।
A virtual private server (VPS) is created through the process of virtualization, by which a virtual replica of a physical server is created. A VPS is like having access to your own personal server with an allocated number of resources and choice of a pre-installed operating system. It is an isolated microsystem based on a shared server. Since a VPS is self contained, you have full control of your server setup and are responsible for all updates and security. You can also choose to opt for our managed service.
Cloud hosting की help से website का peak load (without any bandwidth issue) conveniently manage किया जा सकता है क्योकि इस case मे cluster का other server additional resources उस server को offer कर सकता है | इस प्रकार website को किसी एक single server के resources पर depend नहीं रहना पड़ता क्योकि बहुत सारे server, cluster मे काम करते हुए अपने resources share करते है | 
×