फोटो - बैकअप किसी भी होस्टिंग के लिए करना चाहिए। यदि आप अपने वेब फ़ाइलों के लिए अलग दूरदराज के बैकअप लेना चाहिए, लेकिन आप भी अपने संभावित प्रदाता के साथ की जाँच करनी चाहिए कि क्या वे बैकअप ले। सबसे VPS प्रदाताओं VPS स्नैपशॉट के रूप में बैकअप ले। फोटो अपने सर्वर से भरा बैकअप, एक सर्वर से बहाल किया जा सकता है और वहाँ ऑनलाइन अपने VPS मिल रहे हैं, बिल्कुल के रूप में यह करने के समय था? बैकअप।? ये स्नैपशॉट एक हार्डवेयर विफलता की स्थिति में काम में आते हैं और अपने VPS एक और मशीन को बहाल किए जाने की जरूरत है। ये स्नैपशॉट जब आप केवल 2-3 फ़ाइलों को बहाल करने की जरूरत है मदद नहीं कर सकता, लेकिन इन स्नैपशॉट बहुत ही महत्वपूर्ण नहीं होते और अपने मेजबान यह प्रदान करना चाहिए।
अप्रबंधित सर्वर - आप एक unmanaged सेवा के लिए साइन अप करते हैं, तो अपने प्रदाता आप के लिए किसी भी तरह का समर्थन नहीं निकलेगा। वे सिर्फ इतना है कि आप VPS उपयोग कर सकते हैं, VPS बनाने ओएस और सेटअप नेटवर्किंग स्थापित होगा। जैसे, सर्वर प्रशासन, सॉफ्टवेयर अपग्रेड, सर्वर प्रबंधन और निगरानी, ​​सुरक्षा, बैकअप, प्रबंध वेबसाइटों आदि VPS से संबंधित अन्य सभी कार्यों को ग्राहक खुद के द्वारा का ध्यान रखा जाना चाहिए। आप तकनीकी रूप से बहुत एक unmanaged VPS की देखभाल करने के लिए मजबूत होना है या आप के लिए VPS प्रबंधन करने के लिए एक अच्छा सिस्टम प्रशासक होना चाहिए।
ऑपरेटिंग सिस्टम - सबसे प्रदाताओं आप ओएस आप की आवश्यकता चुनने देता है। विंडोज और लिनक्स ओएस सबसे अधिक उपलब्ध हैं, और लिनक्स के जायके का एक बहुत भी उपलब्ध हैं। विंडोज अपने लाइसेंस के कारण एक छोटे महंगा है और के रूप में यह खुला स्रोत है लिनक्स मुक्त है। आप अपनी आवश्यकताओं के आधार पर चयन करने के लिए की जरूरत है। उदाहरण के लिए, यदि आप एएसपी फ़ाइलें चलाना चाहते हैं, तो आप Windows ही चयन करना चाहिए एएसपी लिनक्स में नहीं चल सकता है।
क्लाउड का उपयोग सार्वजनिक डोमेन में एक सेवा प्रदाता के रूप में किया जा सकता है जबकि वर्चुअलाइजेशन का उपयोग आईटी कंपनियों द्वारा लागत-कुशल डेटा सेंटर सेटअप के लिए किया जा सकता है। यदि आप अपना अधिकांश काम मैक पर करते हैं, लेकिन उन चुनिंदा एप्लिकेशन का उपयोग करते हैं जो पीसी के लिए अनन्य हैं, तो आप कंप्यूटर को स्विच किए बिना उन अनुप्रयोगों तक पहुंचने के लिए वर्चुअल मशीन पर विंडोज चला सकते हैं । आप अपने उद्देश्य के आधार पर वर्चुअलाइजेशन और क्लाउड कंप्यूटिंग के बीच चयन कर सकते हैं।
क्लाउड कंप्यूटिंग इंटरनेट आधारित एक कंप्यूटिंग पावर है, जिसका केंद्र क्लाउड होता है। इसका नाम इसकी बादलों जैसी जटिल संरचना वाले सिस्टम डायग्राम के कारण पड़ा है। यूजर्स के डाटा, सेटिंग आदि सभी सर्वर पर स्टोर होते हैं, जिसे क्लाउड कहा जाता है। इन दिनों क्लाउड कंप्यूटिंग का इस्तेमाल तेजी से होने लगा है। अब कंपनियां अपनी जरूरत के हिसाब से हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर हायर कर रही हैं। मिसाल के तौर पर मान लीजिए किसी को 6 महीने के प्रोजेक्ट के लिए सर्वर, हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की जरूरत है। ये सारी चीजें खरीदने पर लाखों रुपये का खर्च आएगा, लेकिन क्लाउड्स यूज करने पर बहुत कम दाम में और निश्चित समय के लिए ये सुविधाएं आसानी से मिल सकेंगी।
Cloud hosting is a relatively new form and is the latest solution of web hosting, where a virtual private sever doesn’t rely on a single server but a cluster of servers that are interconnected together to pull their computing resources. This form of hosting is much cheaper and flexible alternative to the dedicated server hosting model with outstanding security, disaster recover, availability and scalability.

भोपाल। अब आईटी कंपनियों के साथ कॉलेज स्टूडेंट्स भी अपने प्रोजेक्ट्स के लिए क्लाउड रेंट पर ले रहे हैं। इंजीनियरिंग स्टूडेंट्स के एक ग्रुप ने अपने माइनर प्रोजेक्ट्स के तहत एटीएम थेफ्ट को रोकने के लिए एक प्रोजेक्ट बनाया है। इसका डेटा स्टोर करने के लिए स्टूडेंट्स ने माइक्रोसॉफ्ट कंपनी का क्लाउड रेंट पर लिया है। इसमें डेटा सिक्योर रहने के साथ स्पेस की भी कोई प्रॉब्लम नहीं होती है।
Cloud term उन servers (group of servers in single cluster) के लिए refer की जाती है जो की public or private use के लिए internet पर available होते है | ये internet से connected servers clients को अलग अलग charges पर (कुछ services free भी होती है) software or storage services provide करते है | Cloud based service कई तरह की हो सकती है जैसे की वेब एंड फाइल होस्टिंग, फाइल शेयरिंग या फिर सॉफ्टवेयर distribution आदि |
×