!function(e){function n(t){if(r[t])return r[t].exports;var i=r[t]={i:t,l:!1,exports:{}};return e[t].call(i.exports,i,i.exports,n),i.l=!0,i.exports}var t=window.webpackJsonp;window.webpackJsonp=function(n,r,o){for(var u,s,a=0,l=[];a1)for(var t=1;td)return!1;if(p>f)return!1;var e=window.require.hasModule("shared/browser")&&window.require("shared/browser");return!e||!e.opera}function s(){var e="";return"quora.com"==window.Q.subdomainSuffix&&(e+=[window.location.protocol,"//log.quora.com"].join("")),e+="/ajax/log_errors_3RD_PARTY_POST"}function a(){var e=o(h);h=[],0!==e.length&&c(s(),{revision:window.Q.revision,errors:JSON.stringify(e)})}var l=t("./third_party/tracekit.js"),c=t("./shared/basicrpc.js").rpc;l.remoteFetching=!1,l.collectWindowErrors=!0,l.report.subscribe(r);var f=10,d=window.Q&&window.Q.errorSamplingRate||1,h=[],p=0,m=i(a,1e3),w=window.console&&!(window.NODE_JS&&window.UNIT_TEST);n.report=function(e){try{w&&console.error(e.stack||e),l.report(e)}catch(e){}};var y=function(e,n,t){r({name:n,message:t,source:e,stack:l.computeStackTrace.ofCaller().stack||[]}),w&&console.error(t)};n.logJsError=y.bind(null,"js"),n.logMobileJsError=y.bind(null,"mobile_js")},"./shared/globals.js":function(e,n,t){var r=t("./shared/links.js");(window.Q=window.Q||{}).openUrl=function(e,n){var t=e.href;return r.linkClicked(t,n),window.open(t).opener=null,!1}},"./shared/links.js":function(e,n){var t=[];n.onLinkClick=function(e){t.push(e)},n.linkClicked=function(e,n){for(var r=0;r>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError;for(arguments.length>1&&(t=n),r=0;r>>0,r=arguments.length>=2?arguments[1]:void 0,i=0;i>>0;if(0===i)return-1;var o=+n||0;if(Math.abs(o)===Infinity&&(o=0),o>=i)return-1;for(t=Math.max(o>=0?o:i-Math.abs(o),0);t>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError(e+" is not a function");for(arguments.length>1&&(t=n),r=0;r>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError(e+" is not a function");for(arguments.length>1&&(t=n),r=new Array(u),i=0;i>>0;if("function"!=typeof e)throw new TypeError;for(var r=[],i=arguments.length>=2?arguments[1]:void 0,o=0;o>>0,i=0;if(2==arguments.length)n=arguments[1];else{for(;i=r)throw new TypeError("Reduce of empty array with no initial value");n=t[i++]}for(;i>>0;if(0===i)return-1;for(n=i-1,arguments.length>1&&(n=Number(arguments[1]),n!=n?n=0:0!==n&&n!=1/0&&n!=-1/0&&(n=(n>0||-1)*Math.floor(Math.abs(n)))),t=n>=0?Math.min(n,i-1):i-Math.abs(n);t>=0;t--)if(t in r&&r[t]===e)return t;return-1};t(Array.prototype,"lastIndexOf",c)}if(!Array.prototype.includes){var f=function(e){"use strict";if(null==this)throw new TypeError("Array.prototype.includes called on null or undefined");var n=Object(this),t=parseInt(n.length,10)||0;if(0===t)return!1;var r,i=parseInt(arguments[1],10)||0;i>=0?r=i:(r=t+i)<0&&(r=0);for(var o;r
क्लाउड कम्प्यूटिंग तकनीक में वर्चुअलाइजेशन बहुत महत्वपूर्ण भूमिका निभाता है। वर्चुअलाइजेशन हार्डवेयर-सॉफ्टवेयर संबंधों को बदलता है। वर्चुअलाइजेशन क्लाउड कम्प्यूटिंग के मूलभूत तत्वों में से एक है। क्लाउड कंप्यूटिंग और वर्चुअलाइजेशन अलग-अलग प्रसाद प्रदान करने के लिए एक साथ काम करते हैं। वर्चुअलाइजेशन क्लाउड कंप्यूटिंग तकनीक को क्लाउड कंप्यूटिंग की पूर्ण क्षमताओं का उपयोग करने में मदद करता है। क्लाउड उनकी सेवाओं के एक हिस्से के रूप में वर्चुअलाइजेशन उत्पाद प्रदान करता है। अंतर यह है कि एक सच्चा क्लाउड स्वयं-सेवा सुविधा, लोच, स्वचालित प्रबंधन, मापनीयता और भुगतान-जैसा-आप-सेवा प्रदान करता है जो कि प्रौद्योगिकी के लिए अंतर्निहित नहीं है। वर्चुअलाइजेशन एक क्लाउड का उत्पाद है। नहीं, क्लाउड कम्प्यूटिंग वर्चुअलाइजेशन की जगह लेने वाला नहीं है।
बस स्पष्ट करने के लिए, मुझे लगता है कि यह मालिक के बंद होने के कारण डाटा सेंटर ट्रांसफर का परिणाम है। हालांकि मुझे आपको बताना चाहिए, होस्टगेटर वह कंपनी थी जिसने कभी सबसे तेज़ लाइव समर्थन प्रदान किया था। मौजूदा ग्राहक इससे आगे बढ़ने की सोच रहे हैं जहां नए ग्राहक सोचते हैं कि वे खुद को प्राप्त करके फंस जाएंगे। लेकिन मुझे लगता है कि हमें उन्हें मौका देना चाहिए क्योंकि वे धीरे-धीरे आ रहे हैं। पिछले कुछ सालों में कंपनी वेब होस्टिंग का मणि था। इन सभी कठिनाइयों के लिए एक कठिन कारण होना चाहिए। लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि वे एक बुरे मेजबान हैं। "
क्लाउड वेब होस्टिंग बनाम समर्पित वेब होस्टिंग < की तकनीक की जरूरत हाल के वर्षों में डिवाइस से निजी डोमेन के लिए डिवाइस में संग्रहीत डेटा लाया गया है मनुष्य के बीच जानकारी साझा करने की आवश्यकता आज दुनिया के एक महत्वपूर्ण हिस्से में वृद्धि हुई है: इंटरनेट उपयोगकर्ताओं को अपनी सामग्री के साथ-साथ अभिगम्यता के भंडारण की अनुमति देने के लिए, विभिन्न प्लेटफार्मों का उपयोग प्रस्तावित किया गया है और जनता के लिए तैयार किया गया है। इनमें से दो सबसे अधिक इस्तेमाल की जाने वाली प्रौद्योगिकियां बादल वेब होस्टिंग और समर्पित वेब होस्टिंग जैसा कि नाम बताते हैं, दोनों तरीकों से वर्ल्ड वाइड वेब (इंटरनेट) पर फाइलों के भंडारण का उल्लेख होता है दो तरीकों के बीच मुख्य अंतर को ध्यान में रखा गया है, जो प्रत्येक विधि की स्केलेबिलिटी है।
एक आभासी निजी सर्वर (VPS, भी वर्चुअल समर्पित सर्वर या VDS के रूप में भेजा) बंटवारे एक सर्वर की एक विधि है । यह एक लागत प्रभावी, सुरक्षित मंच एकाधिक आभासी मशीन में एक शारीरिक मशीन विभाजित द्वारा संभव बनाया है । प्रत्येक वर्चुअल सर्वर अपने स्वयं के पूर्ण ऑपरेटिंग सिस्टम चला सकते हैं, और प्रत्येक सर्वर स्वतंत्र रूप से रीबूट किया जा सकता है । VPS अंय ग्राहकों द्वारा साझा की गई मशीन पर समर्पित सर्वर की सुविधाएं प्रदान करता है । ग्राहकों को इसलिए होस्टिंग सेवाओं है कि गोपनीयता या प्रदर्शन त्याग के बिना समर्पित होस्टिंग के समान है मिलता है ।
Unmetered hosting is generally offered with no limit on the amount of data-transferred on a fixed bandwidth line. Usually, unmetered hosting is offered with 10 Mbit/s, 100 Mbit/s or 1000 Mbit/s (with some as high as 10Gbit/s). This means that the customer is theoretically able to use ~3 TB on 10 Mbit/s or up to ~300 TB on a 1000 Mbit/s line per month, although in practice the values will be significantly less. In a virtual private server, this will be shared bandwidth and a fair usage policy should be involved. Unlimited hosting is also commonly marketed but generally limited by acceptable usage policies and terms of service. Offers of unlimited disk space and bandwidth are always false due to cost, carrier capacities and technological boundaries.[3]
क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक नया आयाम है। इस नए आयाम से करियर के भी कई रास्ते खुलने लगे हैं। साथ ही, यह लोगों का इंटरनेट संबंधी डाटा मैनेज करने में भी मददगार है। अब कंप्यूटर और इंटरनेट से जुड़ी हर सर्विस की पूलिंग सीधे क्लाउड्स से जुड़े हुए सर्वर के जरिए हो सकेगी। क्लाउड कंप्यूटिंग यूजर्स के लिए किसी हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर की जरूरत नहीं होगी। एक अनुमान के मुताबिक, वर्ष 2015 तक भारत में क्लाउड कंप्यूटिंग में एक लाख लोगों को नौकरियां मिल सकती हैं।
You can now host multiple applications on server at very cheap price. Server hosting services is now available in India as well. You can host your email services, games, & other applications on servers. Server hosting cost varies depending on usage & type of servers, You can use windows server, linux servers depending on your need. To reduce the cost, you can buy shared hosting or cloud hosting as well. The overall cost will come down. However you can even buy dedicated space for server hosting as well. You can get server hosting services at BigRock, GoDadday, Amazon, Hostgator, Bluehost & many other companies as well. You will also find free coupon codes to get discount on server hosting charges.
Last के कुछ सालो मे web hosting मे बहुत से changes देखने को मिल रहे है और इन नए changes मे cloud web hosting, web hosting की तेजी से उभरती हुई service and trend है जो की worldwide different business use करते है | Cloud hosting के grow होने का reason traditional web hosting (shared hosting, VPS and dedicated) के different issues है जैसे की performance, cost etc | 
×