Trading spot currencies involves substantial risk and there is always the potential for loss. Your trading results may vary. Because the risk factor is high in the foreign exchange market trading, only genuine "risk" funds should be used in such trading. If you do not have the extra capital that you can afford to lose, you should not trade in the foreign exchange market. No "safe" trading system has ever been devised, and no one can guarantee profits or freedom from loss.


प्रभावी लागत - बादल होस्टिंग होस्टिंग उद्योग में एक बहुत लागत प्रभावी साधन प्रदान करता है। प्रारंभिक बादल होस्टिंग शुरू करने के लिए आवश्यक निवेश कम के रूप में आप सिर्फ अंतर्निहित बुनियादी ढांचे या हार्डवेयर के लिए सेवा के लिए नहीं है और भुगतान करते हैं। बेशक इस बादल आप चुनते हैं के प्रकार पर निर्भर करेगा, अभी भी सबसे सामान्य परिदृश्यों के लिए यह एक बहुत लागत प्रभावी साधन है। इसके अलावा, के लिए किसी भी अतिरिक्त संसाधन अपनी योजना को जोड़ा गया है, तो आप आप केवल क्या इस्तेमाल के लिए भुगतान करते हैं, और संसाधनों का एक निश्चित पैकेज के लिए अग्रिम में भुगतान किया जाए या नहीं आप इसका इस्तेमाल पसंद नहीं।
The easiest way to add a SUM formula to your worksheet is to use AutoSum. Select an empty cell directly above or below the range that you want to sum, and on the Home or Formula tabs of the ribbon, click AutoSum > Sum. AutoSum will automatically sense the range to be summed and build the formula for you. This also works horizontally if you select a cell to the left or right of the range that you need to sum.

The force driving server virtualization is similar to that which led to the development of time-sharing and multiprogramming in the past. Although the resources are still shared, as under the time-sharing model, virtualization provides a higher level of security, dependent on the type of virtualization used, as the individual virtual servers are mostly isolated from each other and may run their own full-fledged operating system which can be independently rebooted as a virtual instance.
एक समर्पित सर्वर या साझा सर्वर के मामले पर विचार करें। किसी भी मामले में, यदि कुछ अंतर्निहित हार्डवेयर के साथ होता है - कहते हैं, हार्ड डिस्क क्रैश या आई बोर्ड के साथ कुछ समस्या या बिजली की आपूर्ति विफल या उस प्रकार से कुछ भी होता है, तो सर्वर नीचे जाता है और आपकी वेबसाइट और ईमेल पहुंच भी कम होती है आपका व्यवसाय कम हो जाएगा जब तक समस्या ठीक नहीं हो जाती है जो प्रदाता पर निर्भर करता है, जिसमें घंटे लग सकता है। यदि आप क्लाउड होस्टिंग में हैं, तो? आप भी इस तरह की एक समस्या का एक संकेत प्राप्त करने के लिए नहीं जा रहे हैं यदि एक सर्वर नीचे चला गया, तो दूसरा सर्वर जल्द ही भूमिका निभाता है, और कोई डाउनटाइम नहीं है इसके अतिरिक्त वेब, ईमेल, एफ़टीपी, डाटाबेस आदि जैसी सभी सेवाओं को अलग-अलग सर्वरों में फैलाना होगा, इसलिए यहां तक ​​कि अगर वेबसर्वर क्रैश हो जाता है, तो यह आपके ईमेल को प्रभावित नहीं करेगा। हालांकि, उद्योग में सभी होस्टिंग प्रदाता क्लाउड होस्टिंग प्रदान नहीं करते हैं, क्योंकि यह छोटे व्यवसायों के लिए सस्ती नहीं है क्लाउड नेटवर्क बनाने वाले सर्वरों की बड़ी संख्या के कारण, पारंपरिक होस्टिंग विधियों की तुलना में क्लाउड होस्टिंग की लागत बहुत बड़ी है
क्लाउड कंप्यूटिंग टेक्नोलॉजी के क्षेत्र में एक नया आयाम है। इस नए आयाम से करियर के भी कई रास्ते खुलने लगे हैं। साथ ही, यह लोगों का इंटरनेट संबंधी डाटा मैनेज करने में भी मददगार है। अब कंप्यूटर और इंटरनेट से जुड़ी हर सर्विस की पूलिंग सीधे क्लाउड्स से जुड़े हुए सर्वर के जरिए हो सकेगी। क्लाउड कंप्यूटिंग यूजर्स के लिए किसी हार्डवेयर या सॉफ्टवेयर की जरूरत नहीं होगी। एक अनुमान के मुताबिक, वर्ष 2015 तक भारत में क्लाउड कंप्यूटिंग में एक लाख लोगों को नौकरियां मिल सकती हैं।
एक महीने में सीखी नेटवर्किंग : मैनेजमेंट स्टूडेंट विपुल मेहरोत्रा ने बताया कि उन्हें नेटवर्किंग सीखनी थी। इस लिए उन्होंने माइक्रोसॉफ्ट क्लाउड लिया। इसके बाद वर्चुअल वर्ल्ड में मशीन सेट-अप की। वर्चुअली लैपटॉप सेट करने के साथ ही खुद को क्लाइंट के तौर पर ट्रीट किया। इस तरह विपुल ने एक महीने में नेटवर्किंग सीखी। इसी तरह मैनिट के स्टूडेंट स्वप्निल कुमार ने अमेजॉन क्लाउड रेंट पर लिया है। स्वप्निल ने बताया कि वे आईटी सिनारियो पर रिसर्च कर रहे हैं। उन्हें लगातार टेक्नोलॉजिकल अपडेट्स और इंफॉर्मेशन कलेक्ट करनी होती है। स्वप्निल ने बताया कि इसमें स्पेस की भी कोई दिक्कत नहीं होती। साथ ही वायरस से डेटा करप्ट होने का खतरा भी नहीं होता।
वेब होस्टिंग क्या है इसके बारे मे तो आपने जन लिया है अब ये web hosting कितने प्रकार की होती इससे जाना भी जरुरी है वैसे तो वेब होस्टिंग के बहोत से प्रकार होते है उदाहरण के लिए : शेयर्ड होस्टिंग (shared hosting), VPS वर्चुअल प्राइवेटसर्वर( Virtual Private Server),डेडिकेटेड होस्टिंग(Dedicated Hosting) और क्लाउड होस्टिंग(Cloud hosting) आइये इनके बारे मे एक एक कर के जान लेते है
क्लाउड कंप्यूटिंग इंटरनेट के माध्यम से साझा कंप्यूटिंग संसाधनों, डेटा या सॉफ्टवेयर का उपयोग करके सेवा का वितरण मोड है। क्लाउड कंप्यूटिंग प्रौद्योगिकी तीन कारकों- ग्रिड कंप्यूटिंग, उपयोगिता कंप्यूटिंग और स्वचालित कंप्यूटिंग पर आधारित है। क्लाउड कम्प्यूटिंग सॉफ्टवेयर प्रदान करने के लिए उपयोग की जाने वाली होस्टिंग और वितरण विधियाँ हैं। दूसरी ओर, क्लाउड कंप्यूटिंग एक विशिष्ट प्रकार का आईटी सेटअप है जिसमें वायरलेस के माध्यम से डेटा भेजने वाले कई कंप्यूटर या हार्डवेयर टुकड़े  शामिल होते हैं या आईपी से जुड़े नेटवर्क। ज्यादातर मामलों में, क्लाउड कंप्यूटिंग वातावरण में कुछ हद तक अमूर्त नेटवर्क प्रक्षेपवक्र के माध्यम से दूरस्थ स्थानों पर इनपुट डेटा भेजना शामिल है, जिसे “क्लाउड” के रूप में जाना जाता है। सारा डेटा सर्वर पर स्टोर किया जाता है और इसे दुनिया में कहीं भी इंटरनेट की मदद से प्रमाणित करके ही एक्सेस किया जा सकता है। आपल, आमज़ॉन, गूगल, माइक्रोसॉफ्ट, आदि सबसे बड़े क्लाउड सेवा प्रदाता हैं जो अपने उपयोगकर्ताओं को बहुत बड़ा भंडारण प्रदान करते हैं और काम को आसान बनाते हैं।
हाइब्रिड बादल : - हाइब्रिड बादल बड़े उद्यमों जो एक सुरक्षित निजी बादल में अपने डेटा रखने के लिए चाहता है के द्वारा चुना जाता है, लेकिन एक ही समय में भी जनता के बादल में यह के एक हिस्से का परीक्षण करना चाहते हैं। हाइब्रिड बादल, संक्षेप में, सार्वजनिक और निजी बादल की सेवाओं को जोड़ती है। सुरक्षा कारक यहां मुख्य रूप से कितनी अच्छी तरह सार्वजनिक और निजी बादलों एकीकृत कर रहे हैं पर निर्भर करता है।
प्रबंधित सर्वर - अप्रबंधित करने के लिए के रूप में विपरीत, प्रबंधित VPS सेवाओं आप अच्छा समर्थन प्रदान करते हैं। क्या सभी कार्य प्रबंधित सेवा के अंतर्गत आते हैं के दायरे मेजबानी करने के लिए मेजबान से भिन्न होता है। कुछ प्रदाताओं, केवल सर्वर प्रबंधन जैसे स्तर 3 मुद्दों का ख्याल रखना होगा सॉफ्टवेयर का उन्नयन आदि और बाकी ग्राहक के द्वारा नियंत्रित किया जाना चाहिए। कुछ दूसरों VPS से संबंधित किसी भी मुद्दे स्तर 1 कार्य, सर्वर लेखा परीक्षा, सर्वर निगरानी, ​​बैकअप योजना, खाते में प्रवास करते हैं, तृतीय पक्ष स्क्रिप्ट प्रतिष्ठानों आदि कुछ भी अपने ग्राहकों के लिए अंत समर्थन प्रदान कर सकते हैं करने के लिए स्तर 3 पासवर्ड रिसेट से लेकर के लिए सहायता प्रदान करेगा। उन्होंने यह भी पूरी तरह से प्रबंधित VPS कहा जाता है। आप तकनीकी रूप से मजबूत नहीं कर रहे हैं, तो यह सबसे अच्छा है एक पूरी तरह से प्रबंधित VPS के लिए जाना जाता है। प्रबंधित सर्वर महंगा अप्रबंधित से, अतिरिक्त दर समर्थन के लिए शुल्क लिया जा रहा है।
क्लाउड होस्टिंग के साथ निपटने के मामले में, आप जो भी उपयोग करते हैं उसके लिए आप वास्तव में भुगतान करते हैं। यदि आपकी ज़रूरतें छोटी हैं, तो इसका मतलब है कि आप कम शुल्क का भुगतान करते हैं। जब आप अधिक स्थान का उपयोग करते हैं, तो आप थोड़ा अधिक भुगतान करते हैं। आपकी ज़रूरतें धीरे-धीरे बदलती रहें, आप हमेशा आपके पास की आवश्यकताओं में बदलाव कर सकते हैं। इसके अलावा, क्लाउड कंप्यूटिंग के नेटवर्क में आपके पास विभिन्न सर्वरों को रखकर डाउनटाइम के मुद्दे को बचाया जा सकता है यह आपके लिए गारंटी दे सकता है कि बिना किसी समय सामग्री अनुपलब्ध हो क्योंकि वेब होस्ट डाउनटाइम समस्या हो रही है। यह प्रभाव क्लाउड में उपलब्ध बैंडविड्थ का विस्तार करने के लिए कार्य करता है।क्लाउड पर सहेजे गए डेटा तक पहुंचने के लिए आप चुनाव के ओएस भी चुन सकते हैं। यह विकल्प मुख्यतः विंडोज और लिनक्स के लिए उपलब्ध है। सब कुछ, क्लाउड होस्टिंग की मेजबानी के लिए समर्पित होस्टिंग के आनंद के लिए अनुमति देता है लेकिन कम कीमत के लिए।
क्रेडिट कार्ड है जरूरी : रेंट पर क्लाउड सर्वर लेने के लिए क्रेडिट कार्ड जरूरी है। पहले कुछ कंपनियां ट्रायल के तौर पर सर्वर यूज करने के लिए देती है। इसमें माइक्रोसॉफ्ट 30 दिन का फ्री ट्रायल भी देता है। इसके साथ ही अमेजॉन के साथ कई आईटी कंपनियां क्लाउड सर्वर उपलब्ध करा रही हैं। इसमें स्पेस की कोई प्रॉब्लम नहीं होती साथ ही सिक्योरिटी का डर नहीं होता।
वेब होस्टिंग क्या है इसके बारे मे तो आपने जन लिया है अब ये web hosting कितने प्रकार की होती इससे जाना भी जरुरी है वैसे तो वेब होस्टिंग के बहोत से प्रकार होते है उदाहरण के लिए : शेयर्ड होस्टिंग (shared hosting), VPS वर्चुअल प्राइवेटसर्वर( Virtual Private Server),डेडिकेटेड होस्टिंग(Dedicated Hosting) और क्लाउड होस्टिंग(Cloud hosting) आइये इनके बारे मे एक एक कर के जान लेते है
इंटरनेट मे जब हम ब्लॉग या वेबसाइट बनाते है तो हमारे पास दो चीज़े होनी चाहिए  सबसे पहला है पहला डोमेन और दुसरा वेब होस्टिंग(Web Hosting) इन दोनों के बिना आप  इंटरनेट मे वेबसाइट या ब्लॉग नहीं बनाना सकते डोमेन क्या है इसके बारे मे तो आप जानते ही होगे अगर आप नहीं जानते तो आप इस पोस्ट को जरुर पढ़े ये आपके लिये बहोत जरुरी है डोमेन क्या है डोमेन कहा से खरीदना चाहिए क्यों की एक सही डोमेन प्रोवाइडर को चुन्ना भी बहोत जरुरी है जितना की एक सही वेब होस्टिंग चुनना.
अपनी वेबसाइटों और संबंधित सॉफ्टवेयर को चलाने के लिए उपलब्ध है। सबसे संकुल 256MB राम के साथ शुरू करते हैं, लेकिन 512MB की एक न्यूनतम सर्वर के समुचित कार्य के लिए आवश्यक है। आप सर्वर में किसी भी नियंत्रण कक्ष का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं, यह अत्यधिक है कि आप 1G राम के साथ एक पैकेज का चयन की सिफारिश की है। आप एक गेम सर्वर के रूप में अपने VPS का उपयोग करने की योजना बना रहे हैं, तो 4GB राम की एक न्यूनतम आवश्यकता है। इसलिए, क्या प्रयोजन के लिए आप के लिए सर्वर का उपयोग किया जाएगा के लिए की पहचान करने और उसके अनुसार रैम चुनें। अपनी वेबसाइट आवश्यकताओं, और सर्वर में सॉफ्टवेयर स्थापना पर निर्भर करता है, आप सर्वर में राम बढ़ाने की जरूरत होगी।
I'v tested some other top VPS Providers/resellers (AWS, Digital Ocean, Vultr, etc.) and find that VPSServer.com offer highest performance/price ratio on market. One of the highest (top 3) IOPS, Unixbench and Network perfomance at lowest price from my research. Setting up server with operating systems is matter of few minutes. Managing is simple and clear.
जैसा की इसके नाम से मालूम से पड़ रहा है शेयर्ड यानि की मिल बाटकर शेयर्ड होस्टिंग में एक ही सर्वर पर  कई वेबसाइट होस्ट होती है जैसे किसी बड़े से कमरे में कई सारे लोग रहते है और उसका किराया उस कमरे के मालिक को देते है ठीक उसी प्रकार शेयर्ड होस्टिंग में एक ही सर्वर पर बहुत सारी वेबसाइट होस्ट होती है और हर वेबसाइट अपना किराया उस होस्टिंग कंपनी को देती है  
आइये इसे एक उदाहरण से समझते है जिस तराह आपको धरती मे रहते के लिए के जगह या प्लोट की जरुरत होती है उसी तराह इंटरनेट मे आपके ब्लॉग को भी एक जगह की जरुरत होती है जिसे हम वेब होस्टिंग कहते है इसी के अन्दर हमारे सारे पोस्ट ,फोटोज ,फाइल्स विडियो इत्यादि सेव रहता है और ये 24 घटे एक्टिव रहता है जिससे की हमारा ब्लॉग हमेशा ऑनलाइन रहे अब ये जगह जो हमें प्रदान करते है उन्हे हम वेब होस्टिंग कंपनी कहते है
[3] Past performance is not necessarily indicative of future results. Note that the accounts represented may not follow all of the trading signals provided by the signal providers or trade the recommended number of contracts. Therefore, the results portrayed are not indicative of an account which may have traded all the recommended signals or contract of the providers. The number of signal providers followed by these accounts may also vary. Accordingly, performance results may vary substantially from account to account, depending on the number of signals and contracts traded and signal providers followed.
The easiest way to add a SUM formula to your worksheet is to use AutoSum. Select an empty cell directly above or below the range that you want to sum, and on the Home or Formula tabs of the ribbon, click AutoSum > Sum. AutoSum will automatically sense the range to be summed and build the formula for you. This also works horizontally if you select a cell to the left or right of the range that you need to sum.
Cloud hosting की help से website का peak load (without any bandwidth issue) conveniently manage किया जा सकता है क्योकि इस case मे cluster का other server additional resources उस server को offer कर सकता है | इस प्रकार website को किसी एक single server के resources पर depend नहीं रहना पड़ता क्योकि बहुत सारे server, cluster मे काम करते हुए अपने resources share करते है | 
×